Shapit Rakshak

यूँ तो वो सदा से एक रक्षक ही था. रक्षा ही करता आ रहा था लेकिन उसे भी नहीं पता था की एक शाप उसका पीछा कर रहा हे. एक गलती हुई और वो बन गया शापित रक्षक. लेकिन रक्षा धरम का पालन करने के लिए वो उस भयानक शाप से भी जूझ गया.

Bonus Item – Paper Sticker, Trading Card

Weight 107 g
Dimensions 203 × 154 × 8 cm
SKU

SPCL-2423-H

ISBN

9788194912583

Publisher

Raj Comics By Sanjay Gupta

Writer

Sanjay Gupta

Penciller

Sushant Panda

Binding

Paperback

Language

Hindi

Pages

48 Pages

Publication Year

2021